मेहसाणा भैंस (Mehsana Buffalo) : मेहसाणा भैंस कितना दूध देती है?

 मेहसाणा भैंस (Mehasana Buffalo Breed )

मेहसाणा भैंस (Mehsana Buffalo) गुजरात ग्रुप (Gujarat Group) की महत्वपूर्ण जलीय / नदीय भैंस की नस्ल है। मेहसाणा भैंसो का गृह क्षेत्र गुजरात के मेहसाणा जिला माना जाता है। मेहसाणा भैंस मुर्रा और सुरती के संकरण से प्राप्त की गई  है। ये भैंसें दूध उत्पादन के लिए प्रसिद्ध हैं। इन्हें भारत में सबसे अच्छी दूध देने वाली नस्लों में से एक के रूप में जाना जाता है। मेहसाणा भैंस का शरीर सामन्यत मुर्रा और सुरती भैंस जैसा ही होता है। 
"Mehasana Buffalo Breed: Gujarat's Superior Dairy Cattle"

मेहसाणा भैंस का मूल स्थान और वितरण (Origins and Distribution of Mehsana Buffalo) :

गुजरात ग्रुप में मुख्यत : सुरती , मेहसाणा , जाफराबादी और बन्नी भैंसे शामिल है। मेहसाणा भैंस मुर्रा और सुरती भैंस का संकरण है। मेहसाणा भैंस (Mehsana Buffalo) का जन्म स्थान गुजरात के मेहसाणा शहर में माना जाता है। मेहसाणा भैंस का नाम गुजरात के मेहसाणा शहर से लिया गया है।  मेहसाणा भैंस को मुख्यत डेयरी फार्मो में दुग्ध उत्पादन के लिए पाली  जाती है। मेहसाणा भैंस गुजरात राज्य के अलावा महाराष्ट्र , राजस्थान और हरियाणा आदि राज्यों में भी देखने को मिलती है। 

Mehasana Buffalo, Gujarat, dairy cattle, breed, milk production, characteristics, origins, distribution,livestock, India, cattle breeds, dairy farming, Murrah Buffalo, population statistics,murra bhains,bhains,gay bhains,bhains ka photo,murra bhains ki photo,murrah bhains price,bhains ki nasal,

गुजरात ग्रुप में आने वाली भैंस की नस्ल (Breed of buffalo coming in Gujarat group) : 

  • मेहसाणा भैंस (Mehsana Buffalo)
  • जाफराबादी भैंस 
  • बन्नी भैंस 

मेहसाणा भैंस की पहचान (Characteristics Of Mehsana Buffalo) :

1. रंग (Colour) :-
  • मेहसाणा भैंस का रंग गहरा काला व् भूरा धूसर (Brown Grey) होता है।  
2. सींग (Horn) :- 
3. आंख (Eye) :- 
  • मेहसाणा भैंस की आँखे उभरी हुई होती है। 
4. पूँछ (Tail) :- 
  • इनकी पूँछ की Switch काले बालों वाली जो Fetlock Joint तक लटकी होती है। 
Switch :-  पूँछ के अंतिम सिरे पर बालों का गुच्छा। 

5. शरीर (Body) : 
  • मेहसाणा भैंस का शरीर सुरती भैंस जैसा मध्यम आकार का होता है।
6. Navel Flap (सुंडी) : 
  • मेहसाणा नस्ल में सुण्डी (Navelflap) और Dewelap कम विकिसित होता है। 
Mehasana Buffalo, Gujarat, dairy cattle, breed, milk production, characteristics, origins, distribution,livestock, India, cattle breeds, dairy farming, Murrah Buffalo, population statistics,murra bhains,bhains,gay bhains,bhains ka photo,murra bhains ki photo,murrah bhains price,bhains ki nasal,
Image Source - Wikipedia

दुग्ध उत्पादन (Milk Production) : 

मेहसाणा भैंस (Mehsana Buffalo) को मुख्यत : डेयरी फार्मो में दुग्ध उत्पादन के लिए पाला जाता है। मेहसाणा भैंस एक ब्यात में 1200 - 1550 लीटर दुग्ध का उत्पादन करती है। मेहसाणा भैंस का प्रथम ब्यात 42 - 50 महीने (1250 दिन) पर होता है। मेहसाणा भैंस के दुग्ध में 7 % फैट होती है। सभी भेंसो की नस्लों में सबसे लम्बा दुग्धकाल  "मेहसाणा भैंस " का होता है जो 352 (+/-) 15 दिन का होता है। जो इस नस्ल की मुख्य विशेषता है।

Note : - देसी गायों (Indigenous Cattle Breeds) में सबसे लंबा दूध काल गिर नस्ल की गाय का है। जो 325 दिन का होता है। 


दुग्ध उत्पादन (Milk Production) :-  1200  - 1550 Liter Per Lactation Period .

वसा उत्पादन (Fat Production ) :-  7 % Fat.

मेहसाणा नस्ल की भैंस एक दिन में 12  - 15  लीटर दूध देती है।
मेहसाणा भैंस (Mehsana Buffalo)

मेहसाणा भैंस (Mehsana Buffalo)

विषय विवरण
मूल स्थान और वितरण मेहसाणा भैंस (Mehsana Buffalo) का जन्म स्थान गुजरात के मेहसाणा शहर माना जाता है। इन्हें गुजरात के अलावा महाराष्ट्र, राजस्थान और हरियाणा आदि राज्यों में भी देखने को मिलती है।
पहचान (Identification) मेहसाणा भैंस का शरीर का रंग काला और भूरा धूसर (Brown Grey) होता है। इसके सींग हँसियानुमा (Sickle Shaped) या मुड़े हुए होते हैं और आंखें उभरी हुई होती हैं।
विशेषता और उपयोग (Features and Uses) मेहसाणा भैंस को मुख्यत: डेयरी फार्मों में दुग्ध उत्पादन के लिए पाला जाता है।
दूध उत्पादन (Milk Production) मेहसाणा भैंस के द्वारा एक ब्यात में 1200 - 1550 लीटर दुग्ध का उत्पादन किया जाता है। मेहसाणा भैंस के दुग्ध में 7 % फैट होती है। सभी भेंसो की नस्लों में सबसे लम्बा दुग्धकाल "मेहसाणा भैंस " का होता है।
Rajasthan Express: Your Guide to Animal Health

भारत में पशुधन की आबादी 20वीं पशुधन गणना के अनुसार : 

1. कुल पशुधन आबादी:
  • 2019 में देश में कुल पशुधन आबादी 535.78 मिलियन है, जो 2012 की गणना की तुलना में 4.6% अधिक है।
2. कुल गायों की संख्या:
  • 2019 में कुल गायों की संख्या 192.49 मिलियन है, जो पिछली गणना की तुलना में 0.8% ज्यादा है। देशी गायो में सबसे लम्बा दुग्धकाल " गिर गाय (Gir Cattle) " का होता है।भारत की देशी गायो में सबसे ज्यादा दुग्ध उत्पादन साहीवाल गाय करती है। 
3. कुल भैंसों की संख्या:
  • 2019 में भारत में कुल भैंसों की संख्या 109.85 मिलियन है, जो पिछली गणना की तुलना में लगभग 1.0% अधिक है। 
भारत में भैंसों की आबादी विश्व की सबसे बड़ी है।
भारत में भैंसों की आबादी मुख्यत ग्रामीण क्षेत्रो में है। भारत में भैंसों की उपयोगिता दूध और मांस के लिए व्यापक रूप से है।सबसे ज्यादा दूध देने वाली भैंस की नस्ल " मुर्रा (Murrah Buffalo Breed) " है। 

"Explore the Mehasana Buffalo, a prominent dairy breed in Gujarat. Learn about its origins, distribution, distinctive characteristics, milk production, and population statistics in this informative guide."

Follow Us on Social Media

Stay connected with The Rajasthan Express by following us on our social media platforms: